तेज धूप से झुलस रहे हैं आपके तुलसी के पौधे, तो आज ही उपयोग करें ये ठंडी खाद…फिर से हो जायेंगे हरे-भरे

तेज धूप से झुलस रहे हैं आपके तुलसी के पौधे, तो आज ही उपयोग करें ये ठंडी खाद…फिर से हो जायेंगे हरे-भरे आइये आपको बताते हैं कैसे आप अपने पौधों को तेज धूप से बचा सकते हैं।

अब गर्मी में भी हरी-भरी रहेगी आपकी तुलसी

हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे का अत्यंत विशेष महत्व होता है। इसे हम मां लक्ष्मी के समान ही पूजते हैं। माना जाता है कि तुलसी के पौधे में मां लक्ष्मी का वास होता है। जिस कारण तुलसी का पौधा विष्णु जी को भी अति प्रिय होता है। तुलसी के पौधे हर भारतीयों के घर के आंगन में या छत पर लगाए जाते हैं। लेकिन कई बार तेज गर्मी और झुलझुलाती धूप के कारण यह पौधे बहुत ही जल्द खराब हो जाते हैं या सूखने और मुरझाने लगते हैं। ऐसे में आप तुलसी के पौधे की देखभाल कैसे करें यह सवाल आता है। आज हम आपको इसकी जानकारी इस आर्टिकल के माध्यम से देंगे। हम आपको बताएंगे कुछ ऐसी ठंडी खादों के बारे में जिससे आप अपने तुलसी के पौधे को हरा-भरा और घना बनाए रख सकते हैं।

यह भी पढ़ें MP में अगले 8 दिनों तक रहेगा आंधी-बारिश का दौर, कई जिलों में ओले गिरने की है सम्भावना, मौसम विभाग ने इन जिलों को दी चेतावनी

नीम की खाद का करें उपयोग

तुलसी के पौधे को हरा-भरा और घना बनाए रखने के लिए आप नीम की खाद का उपयोग कर सकते हैं। नीम की खाद तुलसी के पौधे के लिए काफी अच्छी मानी जाती है। यह एक होममेड कीटनाशक का काम करती है। साथ ही हमारे पौधों को ठंडक भी पहुंचाती है। इसका उपयोग करने से हमारा पौधा कभी भी कीटों की चपेट में नहीं आएगा और साथ ही हमारे पौधे को बेहतरीन ठंडक मिलेगी, जिससे हमारा पौधा हमेशा ही हरा-भरा और घना बना रहेगा।

तेज धूप से झुलस रहे हैं आपके तुलसी के पौधे, तो आज ही उपयोग करें ये ठंडी खाद…फिर से हो जायेंगे हरे-भरे

गोबर की खाद दिखाएगी बेहतरीन असर

गोबर की खाद पर तुलसी के पौधे के लिए बहुत ही अच्छी मानी जाती है। गोबर गर्मी में तुलसी के पौधे को बहुत ही ज्यादा ठंडक पहुंचाता है जिससे कि हमारा पौधा बहुत ही अच्छा रहता है। गोबर का पौधा सबसे ज्यादा शक्तिशाली खाद माना जाता है जो कि पौधों में होममेड फर्टिलाइजर का काम भी करता है। इसमें ऐसे सारे पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो गर्मी के समय में हमारे पौधे को तरोताजा रख सकते हैं। आप गोबर की खाद को तुलसी के पौधे में हर दो से तीन महीने में जरूर डालें जिससे आपको बेहतरीन रिजल्ट मिलेंगे।

केले की खाद से मिलेगी ठंडक

केले की खाद एक बेहतरीन होममेड फर्टिलाइजर माना जाता है। इसे ठंडी खादों में से एक माना जाता है। केले के छिलके हमारे पौधे को पोषक तत्व प्रदान करते हैं। साथ ही मिट्टी का उपचार बनाने में भी मदद करते हैं। गर्मी के मौसम में अगर आपको केले की खाद 10 से 15 दिनों में एक बार डाले तो इसे आपके पौधे बहुत ही ज्यादा घने हो जाएंगे और आपके पौधों को अच्छा पोषण भी मिलेगा।

खाद डालते समय इन बातों का रखें खास ख्याल-

  • तुलसी के पौधों में ज्यादा पानी का उपयोग ना करें इससे पौधे गल भी सकते हैं।
  • हमेशा ही पौधों में ज्यादा मात्रा में खाद देने से बचना चाहिए इससे पौधों को नुकसान भी हो सकता है।
  • खाद को पौधे की जड़ों से दूर रखना चाहिए।
  • बारिश के मौसम में खाद नहीं डालना चाहिए।
  • तुलसी के पौधे में खाद को हमेशा गीली मिट्टी में ही डालें वरना खाद का कोई असर नहीं दिखेगा।

यह भी पढ़ें भोपाल में आधी रात को पार्क में झूला झूलती सफेद साड़ी वाली महिला की दहशत, जानिए क्या है पूरी खबर