आयुर्वेदिक गुणों का खजाना है ये चमत्कारी फल, सर्दियों में खाने से होगी सारी बीमारियां दूर, पाई जाती है पहाड़ों में, जानिए कौनसा है ये फल

आयुर्वेदिक गुणों का खजाना है ये चमत्कारी फल, सर्दियों में खाने से होगी सारी बीमारियां दूर, पाई जाती है पहाड़ों में, जानिए कौनसा है ये फल

आयुर्वेदिक गुणों का खजाना है ये चमत्कारी फल, सर्दियों में खाने से होगी सारी बीमारियां दूर, पाई जाती है पहाड़ों में, जानिए कौनसा है ये फल आज हम आपको बताने जा रहे है एक ऐसे फल के बारे में जो की पहाड़ों में पाई जाती है. ये फल है चमत्कारी और आयुर्वेदिक गुणों से है भरपूर तो आइये जानते है कौनसा है ये फल।

आयुर्वेदिक गुणों की खान है ये चमत्कारी फल

तो आज हम आपको एक ऐसे फल के बारे में बताने जा रहे है जिससे आपकी सारी बीमारियां हो जाएँगी दूर. इस फल को आयुर्वेदिक गुणों का खजाना कहा जाता है। जो की पहाड़ों में पाया जाता है। तो इस फल का नाम है काफल इसका दूसरा नाम जयफल है जिसको सर्दियों में खाना बेहद ही अच्छा होता है आपको बता दे की काफल एक छोटे आकार का बेरी जैसा फल है, जो गोल और लाल, गुलाबी रंग का होता है. इसका स्वाद मीठा और बहुत ही रसीला होता है. . सर्दियों में काफल के सेवन से हमारे शरीर में गर्माहट रहती है और काफल जैसे प्राकृतिक उपचार का उपयोग विशेष रूप से शिशुओं के लिए बेहद फायदेमंद है। जिनकी प्रतिरक्षा प्रणाली अभी भी विकसित हो रही है।

आयुर्वेदिक गुणों का खजाना है ये चमत्कारी फल, सर्दियों में खाने से होगी सारी बीमारियां दूर, पाई जाती है पहाड़ों में, जानिए कौनसा है ये फल

यह ही पढ़े बवासीर को कोसों दूर भागए और पाचन को मजबूत बनाये चमत्कारी पत्ते, दोबारा नहीं होगी बवासीर की बीमारी, जानिए कौनसे है ये पत्ते

इस बीमारी के लिए रामबाण इलाज है काफल

हम आपको बता दे की खाने के साथ ही काफल खाने से घाव, गठिया और चोटों के वजह से होने वाले दर्द से राहत मिल सकती है। काफल के पाउडर को तिल के तेल के साथ मिलाकर लगाने से गठिया रोग समाहित दर्द, और नसों का दर्द भी कम हो सकता है। लेकिन, काफल के सेवन से अपने डॉक्टर एक बार सलाह करनी चाहिए।

आयुर्वेदिक गुणों का खजाना है ये चमत्कारी फल, सर्दियों में खाने से होगी सारी बीमारियां दूर, पाई जाती है पहाड़ों में, जानिए कौनसा है ये फल

कितनी मात्रा में काफल खाना चाहिए

जैसा की आपको बता दे सुबह खाली पेट आधा चम्मच काफल चाटने से गैस्ट्रिक, सर्दी-खांसी की समस्या नहीं सताती है। पेट में दर्द होने पर चार से पांच बूंद काफल का तेल चीनी के साथ लेने से आराम मिलता है।

यह ही पढ़े ये जूस पिया तो सर्दियों में नहीं लगेगी ठंड, होगा गर्मी का एहसास, चेहरे पर रहेगा निखार सालों-साल, जानिए कौनसा है जूस

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now