धरती का राजा समुद्र और उसके अंदर उगने वाली सबसे ताकतवर ये चीज, अगर शुरू कर दिया सेवन करना तो बीमारी आपको भूल कर भी नहीं देखेगी

धरती का राजा समुद्र और उसके अंदर उगने वाली सबसे ताकतवर ये चीज, अगर शुरू कर दिया सेवन करना बन बीमारी आपको भूल कर भी नहीं देखेगी

धरती का राजा समुद्र और उसके अंदर उगने वाली सबसे ताकतवर ये चीज, अगर शुरू कर दिया सेवन करना बन बीमारी आपको भूल कर भी नहीं देखेगी आज आपके लिए बहुत ही तगड़ी चीज लेकर आए है वह शैवाल जो समुद्री जल में पाया जाता हैं ,समुद्री शैवाल कहते है, शैवाल के कारण ही समुद्र का जल लाल तथा हरा होता है। जैसे की — लाल तथा हरा शैवाल जिसे देखकर यकीन कर पाना मुश्किल हो जाता है लेकिन अगर आपसे कोई कहे कि कोई पेड़ या पौधा इतना बड़ा है की आप सोच भी नहीं सकते है इस पौधे का नाम समुद्री शैवाल है। और जब अपन इस पौधे को दूर से देखते है तो आपको बहुत रंग में दिखाई पढ़ता है पर दरसल ये समुद्र के अंदर के पौधो की वजह से दिखाई पड़ता है।

जानिए इस समुद्री शैवाल फायदे

समुद्री शैवाल निकालने में 39 से अधिक प्रकार के मिनरल जैसे पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, जस्ता, और आयोडीन शामिल हैं, अन्य महत्वपूर्ण विटामिन के साथ इसमें एल्गिनिक एसिड, असंतृप्त फैटी एसिड और कई अन्य प्राकृतिक पौधे विकास नियामक भी शामिल है जो अगर आप इस शैवाल का सेवन करते है तो आपको कोई बीमारी छू भी नहीं सकती है ये शैवाल काफी ज्यादा फायदेमंद होते है।

धरती का राजा समुद्र और उसके अंदर उगने वाली सबसे ताकतवर ये चीज, अगर शुरू कर दिया सेवन करना बन बीमारी आपको भूल कर भी नहीं देखेगी

यह भी पढ़े बुढ़ापे को छूमंतर, जवानी आएगी 5 गुना ज्यादा 99% गारंटी, धरती पर उगने वाला सबसे बलशाली फल, जानिए इस फल के फायदे

किस तरह की जाती है खेती शैवाल की

इस शैवाल बहुत सावधान प्रवक की जाती है जैसे की लंबी-रेखा वाली खेती के तरीकों का इस्तेमाल कर लगभग 8 मीटर गहराई वाले पानी में किया जाती है। तैरती हुई खेती की लाइनें नीचे से जुड़ी होती हैं और उत्तरी सुलावेसी, इंडोनेशिया में व्यापक रूप से उपयोग की जाती हैं। इस शैवाल को तैयार होने पर 7 से 8 महीने लगते है।

धरती का राजा समुद्र और उसके अंदर उगने वाली सबसे ताकतवर ये चीज, अगर शुरू कर दिया सेवन करना बन बीमारी आपको भूल कर भी नहीं देखेगी

कितनी होगी कमाई

इस शैवाल की खेती आपको कई गुणा प्रॉफिट देखने को मिलेगा जैसे की गुजरात और तमिलनाडु में इस पर काम हो रहा है, खासकर के तमिलनाडु में सीवीड से 12 से 16 हजार तक की आमदनी होने लगी है। इसका उत्पादन ज्यादातर महिलाएं ही करती हैं, क्योंकि पुरुष मछुआरे समुद्र में मछली पकड़ने चले जाते हैं, महिलाओं को आय का अलग ज़रिया मिल जाता है।

यह भी पढ़े इस विश्व का सबसे अद्भुत ये फल, करता है जवानी को 5 गुना ज्यादा, जानिए इस फल के फायदे

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

You may have missed