धरती का अमृत फल आपके शरीर को देता है मटन से भी ज्यादा ताकत फूल से लेकर बीज, छाल तक आते हैं काम, जानिए किस तरह कर सकते हैं सेवन

धरती का अमृत फल आपके शरीर को देता है मटन से भी ज्यादा ताकत फूल से लेकर बीज, छाल तक आते हैं काम, जानिए किस तरह कर सकते हैं सेवन आइये आपको बताते हैं इसके सारे फायदे।

धरती का अमृत फल

धरती का अमृत कहे जाने वाले इस पेड़ को बटर ट्री के नाम से जाना जाता है। इसका नाम सुनते ही लोग इसको मादक पदार्थों के रूप में प्रयोग किए जाने वाले फल के रूप में ही जानते हैं। इस फल का नाम महुआ है। आयुर्वेद में इसका बहुत ही ज्यादा महत्व होता है। इसके फूल-फल से लेकर बीज और छाल तक आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद माने जाते हैं। इसमें कई सारे ऐसे गुण मौजूद होते हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी होते हैं। यह एक औषधीय फल होता है जो कि आपके शरीर को बहुत ही ज्यादा फायदा पहुंचाता है। महुआ में कई सारे एंटी ऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो कि आपका स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अच्छे माने जाते हैं। इसके पेड़ की छाल, फल-फूल सभी औषधीय मानी जाती हैं। इससे आप कई तरह की चीज तैयार कर सकते हैं। इसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन और फाइबर और कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा होता है।

धरती का अमृत फल आपके शरीर को देता है मटन से भी ज्यादा ताकत फूल से लेकर बीज, छाल तक आते हैं काम, जानिए किस तरह कर सकते हैं सेवन

यह भी पढ़ें 40 रुपए का अंडा तो 2 हजार रुपए किलो बिकता है मांस, जानिए मुर्गे की इस नस्ल के बारे में जो आपको चंद दिनों में ही बना देगी करोड़पति, स्वास्थ्य लाभ भी है अनेक

महिलाओं के लिए है रामबाण

महिलाओं के लिए यह फल संजीवनी बूटी का काम करता है। जिस भी व्यक्ति को एनीमिया की परेशानी है या फिर वे खून की समस्या से हमेशा ही जूझते रहते हैं तो इन्होंने महुआ का सेवन अनिवार्य रूप से करना चाहिए जिससे कि उनको कभी खून की कमी का सामना नहीं करना पड़ेगा। साथ ही ब्रेस्ट मिल्क की कमी के लिए भी महिलाओं को महुआ खिलाया जाता है जो कि उनकी सेहत के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है। इसका सेवन हमेशा ही हमें उचित मात्रा में करना चाहिए क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है जिससे स्वास्थ्य पर इसके थोड़े नकारात्मक प्रभाव भी पड़ सकते हैं।

इन बिमारियों का है काल

हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ाने के लिए महुआ बहुत ही ज्यादा फायदेमंद माना जाता है। साथ ही महुआ का उपयोग बुखार, पेट अल्सर, दांत दर्द जैसी समस्याओं के लिए भी किया जाता है। इसके तेल का उपयोग गठिया वात और घुटनों में दर्द के लिए रामबाण माना जाता है। महुआ का सेवन करने से आपके शरीर में खून का प्रवाह उचित रूप से बना रहता है जिससे आपको कभी भी एनीमिया की समस्या का सामना नहीं करना पड़ता। साथ ही इससे आपके शरीर में अच्छा प्रोटीन भी मिलता है जिससे आपको कभी भी हड्डियों से जुड़ी तकलीफों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

इस तरह कर सकते हैं सेवन

महुआ का सेवन करने के लिए आप इसको रात में पानी में भिगोकर सुबह इसका सेवन कर सकते हैं। साथ ही जिन महिलाओं को ब्रेस्ट मिल्क की समस्या बनी रहती है तो वह सुबह शाम दो बार 2.5 से 5 ग्राम की मात्रा में दूध के साथ इसे खा सकती है या फिर इसका खीर या हलवा बनाकर सेवन कर सकती हैं। 10 से 25 ग्राम की मात्रा तक आप 20 से 25 दिन तक सेवन करें। इससे आपको बहुत ही ज्यादा लाभ मिलेगा। साथ ही आपको ब्रेस्ट मिल्क की समस्या भी दूर हो जाएगी और आपको इससे एनीमिया की समस्या भी नहीं होगी। यदि जो लोग खून से जुड़ी समस्याओं से जूझ रहे हैं वे इसका सेवन लगातार एक महीने तक रोज रात को 5 महुआ एक गिलास पानी में भिगोकर सुबह खाएं तो इससे उनके एनीमिया की समस्या तुरंत ही दूर हो जाएगी।

यह भी पढ़ें आलू जैसा दिखने वाला फल आपको बना सकता है अम्बानी, खेती कर होती है इतनी कमाई की पलंग के नीचे भी रखने पड़ेंगे पैसे, जानिए क्या हैं फायदे