पश्चिमी एशिया में की जाती है सबसे चमत्कारी फल की खेती, सेवन से आपकी उम्र भर लोग पूछेंगे आपकी नौजवानी का राज

पश्चिमी एशिया में की जाती है सबसे चमत्कारी फल की खेती, सेवन से आपकी उम्र भर लोग पूछेंगे आपकी नौजवानी का राज जिस फल की हम बात कर रहे है उस फल का नाम चेरी है जो की पश्चिमी एशिया में सबसे ज्यादा इस फल की खेती की जाती है।

किस तरीके से की जाती है खेती

इस फल की खेती करना बहुत ही आसान है। इस का स्वाद मीठे और खट्टी दोनों प्रकार का आता है। चेरी की उत्पत्ति (स्वदेशी) पश्चिमी एशिया और यूरोप की ठंडी जलवायु में हुई और यूएसडीए कठोरता क्षेत्र 6 से 8 में सफलतापूर्वक विकसित हो सकती है। इस फल के बीजो को तैयार किया जाता उसके बाद खेत में सावधानी बरकते हुए लगा दिया जाता है। इस फल को उगने में करीबन 4 से 5 साल का समय लगता है इसकी खास बात है 70 साल से भी ज्यादा जीवित रहते है इस फल के पेड़।

पश्चिमी एशिया में की जाती है सबसे चमत्कारी फल की खेती, सेवन से आपकी उम्र भर लोग पूछेंगे आपकी नौजवानी का राज

यह भी पढ़े कड़वा तो बहुत है, लेकिन 1 चम्मच भी पी लिया इन पत्तों का जूस, बीमारी को करे गायब, ये धरती का सबसे चमत्कारी पत्ता है

कितनी होगी कमाई

इस फल की कीमत की बात की जाए दे की बाजार में 700 रूपये किलो है। अगर आप इस फल की खेती करते है तो आपको महीने अच्छा खासा मुनाफा कमाने को मिलेगा। आप इस फल की खेती एक से दो एकड़ में भी कर सकते है। आप एक से दो एकड़ में आपको 70 से 80 हजार रूपये का मुनाफा देखने को मिलेगा। आप इस फल की खेती कर लाखों रूपये

यह भी पढ़े गर्मी के मौसम की सबसे ज्यादा पैसा देने वाली फसल ये है, इस फसल से आएगा इतना पैसा की आप बन जायेगें धन्ना सेठ

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now