प्राइवेट स्कूलों को 2 लाख रु जुर्माना देना पड़ सकता है, अगर बच्चो से कही यह बात, जानें सीएम मोहन यादव के आदेश

प्राइवेट स्कूलों को 2 लाख रु जुर्माना देना पड़ सकता है, अगर बच्चो से कही यह बात, जानें सीएम मोहन यादव के आदेश। ताकि ऐसी दिक्क्त आये तो इन स्कूलों के खिलाफ शिकायत कर सके।

प्राइवेट स्कूल

प्राइवेट स्कूलों को लेकर मध्य प्रदेश के सीएम डॉ मोहन यादव ने कड़े निर्देश दिए हैं। जिसमें अगर मध्य प्रदेश के प्राइवेट स्कूल उनके इसने निर्देश का पालन नहीं करते हैं तो उनके ऊपर कड़ी कार्यवाही की जाएगी। उसके लिए उन्होंने मुख्य सचिव को निर्देश भी दिए हैं। क्योकि उनके पास कुछ लोगो द्वारा निजी स्कूलों के खिलाफ शिकायत मिल चुकी है। तब चलिए जानते हैं प्राइवेट स्कूलों को क्या निर्देश दिया है।

प्राइवेट स्कूलों को 2 लाख रु जुर्माना देना पड़ सकता है, अगर बच्चो से कही यह बात, जानें सीएम मोहन यादव के आदेश

यह भी पढ़े- रेल यात्री कृपया ध्यान दें, 1 अप्रैल से बदल जाएगा भुगतान का ये नियम, अब नहीं होगा कोई गड़बड़ घोटाला

सीएम मोहन यादव के आदेश

मध्य प्रदेश के सीएम डॉ मोहन यादव ने अपने सोशल मीडिया एक्स के अकाउंट पर एक पोस्ट शेयर करते हुए कहा कि प्राइवेट स्कूल, किसी बच्चे या उनके माता-पिता को यह बात नहीं कह सकते कि वह किसी एक निश्चित दुकान से किताबें/यूनिफॉर्म खरीदे। यानि कि बच्चो के माता-पिता अपने मर्जी की दुकान से स्कूल के यूनिफॉर्म और किताबे खरीद सकते है। लेकिन अगर स्कूल वाले उन्हें किसी एक दुकान से खरीदने के लिए कहते है तो उनके ऊपर सख्त कार्रवाई होगी, और इस संबंध में उन्होंने मुख्य सचिव को निर्देश दिया है।

इसके बाद मध्य प्रदेश के सभी जिला के कलेक्टर इस निर्देश के पालन में लग गए हैं, और अगर कोई स्कूल इस निर्देश के खिलाफ जाता है और पहली बार उसके खिलाफ कोई शिकायत आती है तो ₹200000 तक का जुर्माना देना पड़ सकता है। चलिए देखिए सीएम का पोस्ट।

देखें पोस्ट

प्राइवेट स्कूलों को 2 लाख रु जुर्माना देना पड़ सकता है, अगर बच्चो से कही यह बात, जानें सीएम मोहन यादव के आदेश

इस तरह अब निजी स्कूल बच्चो को किसी एक दुकान से स्कूल की चीजे खरीदने के लिए नहीं कहेंगे। जिससे उन्हें महंगे समान नहीं लेना पड़ेगा।

यह भी पढ़े- मनरेगा की मजदूरी बढ़ी, 1 अप्रैल से मिलेगी ज्यादा मजदूरी, यहां जानिये किस राज्य के मजदूरों को कितना मिलेगा पैसा