किसानों के खिले चेहरे, अब मिलेगा यूरिया गोल्ड, दोगुनी पैदावार से बढ़ेगी आमदनी, जानिये क्या है योजना

किसानों के खिले चेहरे, अब मिलेगा यूरिया गोल्ड, दोगुनी पैदावार से बढ़ेगी आमदनी, जानिये क्या है योजना

किसानों के खिले चेहरे, अब मिलेगा यूरिया गोल्ड, दोगुनी पैदावार से बढ़ेगी आमदनी, जानिये क्या है योजना। किसानों के लिए एक बड़ी खबर निकलकर आ रही है। चलिए जाने यूरिया गोल्ड से जुड़ी पूरी जानकारी।

यूरिया गोल्ड

सबसे पहले हम यूरिया गोल्ड के बारे में जानेंगे। जिसमें आपको बता दे कि यूरिया गोल्ड से फसल की पैदावार बढ़ेगी। जिससे आमदनी भी ज्यादा होगी। यानी कि यह अन्य उर्वरकों से किसानों को ज्यादा फायदा पहुंचाएगी। क्योंकि यह सल्फर कोटेड यूरिया है। जिसे यूरिया गोल्ड कहते हैं। यह सल्फर कोटेड है, जिसकी वजह से मिट्टी में सल्फर की कमी पूरी होती है। मिली जानकारी के अनुसार आपको बता दे कि जांच के दौरान ज्यादातर मिट्टी में 40% तक की सल्फर की कमी पाई गई है। इसलिए सरकार यह गोल्ड यूरिया प्रदान कर रही है। चलिए यह किसानों को कैसे मिलेगी।

किसानों के खिले चेहरे, अब मिलेगा यूरिया गोल्ड, दोगुनी पैदावार से बढ़ेगी आमदनी, जानिये क्या है योजना

यह भी पढ़े- गेंहू की फसल को बर्बाद होने से बचाएं, यहाँ जानिये जड़ माहु कीट से गेंहू को बचाने का तरीका

यूरिया गोल्ड पर सब्सिडी

खेती के खर्चे में सरकार किसानों की मदद करने के लिए यूरिया पर सब्सिडी प्रदान कर रही है। जिसमें 45 किलोग्राम यूरिया 266.50 रुपए में उन्हें मिल रही है। जबकि उसकी अगर वास्तविक कीमत देखी जाए तो 2,266.50 है। इस तरह से उन्हें 266.50 में यूरिया के 45 किलोग्राम की बोरी मिल रही है। जिसके बाद किसानों को सरकार अब यूरिया गोल्ड देने जा रही है। जिससे सल्फर की कमी पूरी करके किसान अधिक पैदावार कर सकें। मिली जानकारी के अनुसार बता दे की गोल्ड यूरिया अब मिलेगी। जिसमें 266.50 रुपए की 40 किलोग्राम की यूरिया गोल्ड की बोरी मिलेगी। चलिए जानते हैं इस समय पर अन्य खाद की कीमत क्या है।

किसानों के खिले चेहरे, अब मिलेगा यूरिया गोल्ड, दोगुनी पैदावार से बढ़ेगी आमदनी, जानिये क्या है योजना

खाद की कीमत

इस समय पर खाद की कीमत की बात करें तो किसानों को अच्छी-खासी सब्सिडी मिल रही है। जिसके बाद यूरिया जैसा कि हमने पहले बताया 45 किलोग्राम तक 266.50 में मिल रही है। फिर डीएपी की बात करें तो 50 किलोग्राम की बोरी करीब 1,350 रुपए में मिल रही है, और एमओपी की बात करें तो 50 किलोग्राम की ही बोरी ₹1700 में मिल रही है, और एनपीके किसानों को 50 किलोग्राम की बोरी 1470 रुपए में मिल रही है। इस तरह किसानों को सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता दी जा रही है। जिससे उनके खेती के आर्थिक बोझ को कम किया जा सके।

यह भी पढ़े- इस तरीके से खेती करके, 7 गुना मुनाफा कमा रहे किसान, जानिए इस तगड़े मुनाफे वाली खेती के पीछे का राज़

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

You may have missed