किसान सिंदूर-लिपस्टिक के बीज बेच कर रहे अंधाधुंध कमाई, यहाँ जानें कितनी मिलती है इन बीजो की कीमत

किसान सिंदूर-लिपस्टिक के बीज बेच कर रहे अंधाधुंध कमाई, यहाँ जानें कितनी मिलती है इन बीजो की कीमत, और इसका इस्तेमाल किन-किन चीजों में होता है।

सिन्दूर-लिपस्टिक के बीज

सिंदूर लिपस्टिक का इस्तेमाल महिलाएं बहुत करती हैं। लेकिन क्या आपको पता है यह कैसे बनाया जाता है। बता दे की सिंदूर की खेती होती है। वहीं यह पौधा लोग अपने घरों में फूल की तरह भी लगाते हैं। बता दे की सिंदूर के फसल का वैज्ञानिक नाम बिक्सा ओरेलाना है। इसके बीजों से सिंदूर, और कॉस्मेटिक के समान जैसे की लिपस्टिक, साबुन, मेहंदी, नेल पॉलिश आदि चीज बनती है।

इस तरह आप जानते होंगे इन चीजों की कीमत कितनी ज्यादा है, और इनका इस्तेमाल लोग कितना कर रहे हैं। इस हिसाब से किसानों को उसकी कीमत भी मिलती है, और किसान लाखों में कमाई कर रहे हैं। तब आइये इसकी फसल और इससे होने वाली कमाई के बारे में जानते हैं।

किसान सिंदूर-लिपस्टिक के बीज बेच कर रहे अंधाधुंध कमाई, यहाँ जानें कितनी मिलती है इन बीजो की कीमत

यह भी पढ़े- गर्मियों के लिए गमलें में ऐसे बोयें धनिया, हरी-हरी धनिया से भर जाएगा गमला, जानें धनिया उगाने का सबसे आसान तरीका

सिंदूर की फसल

सिंदूर की खेती हमारे देश के कई राज्यों में की जा रही है। जिसमें हिमाचल प्रदेश और छत्तीसगढ़ राज्य आते हैं। लेकिन पहाड़ी इलाकों में ज्यादातर किसान इसकी खेती करते हैं। इसके पेड़ 7 से 8 फुट के लंबे होते हैं, और इसका तना मजबूत होता है। यह देखने में एक अद्भुत पौधा होता है। इसके लिए 30 डिग्री का तापमान बेहतर माना जाता है। इस तापमान में पौधा सही से बढ़ता है।

अब जो किसान इसकी खेती करना चाहते हैं तब बता दे की दिसंबर से जनवरी और जुलाई से सितंबर के बीच में भी इसकी रोपाई कर सकते हैं। वही जैसा कि हमने बताया लोग इसे अपने घरों में सो प्लांट की तरह भी लगाते हैं। यानी कि आप आसानी से इसकी खेती कर सकते हैं। आईए जानते हैं इसके बीजो कि कितनी कीमत किसान को मिलती है।

सिंदूर की खेती में कमाई

बाजार में कॉस्मेटिक के कई तरह के प्रोडक्ट मिलते हैं। लेकिन वह प्रोडक्ट जो लोगों की त्वचा को हानि नहीं पहुंचते हैं उनकी कीमत ज्यादा होती है, और लोग उन्हें पसंद भी करते हैं। जिससे उसकी हाथों-हाथ बिक्री भी हो जाती है। तब आपको बता दे की सिंदूर के जो बीज होते हैं उनसे नेचुरल सिंदूर बनता है। यानी कि इसमें केमिकल का इस्तेमाल नहीं होता है।

इसका रंग इतना अच्छा होता है कि इसमें केमिकल मिलाने की जरूरत नहीं होती। वहीं इसमें कई तरह के औषधीय गुण भी पाए जाते हैं। जिससे कई रोगों की दवाई जैसे की पीलिया, त्वचा के जलने-कटने आदि में बनाने के लिए कंपनियां किसानों से इसे खरीदती है। तब आपको बता दे की सिंदूर के बीज बेचकर किसान ₹400 प्रति किलो के हिसाब से कमा रहे है। यानी कि यह बेहद मुनाफे वाला सौदा है। इससे किसान लाखों रुपए आसानी से कमा सकते हैं।

यह भी पढ़े- सूखी तुलसी होगी हरी-भरी, पौधे की जड़ में डालें यह चीज, 7 दिनों के भीतर पौधा होगा हरा और घना, जानें कैसे

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now