झोपडी में केवल दो बल्ब जलाकर रहने वाली अम्मा के नाम आया 2 लाख से ज्यादा का बिजली बिल, कारण जान लोग हुए हक्के बक्के

झोपडी में केवल दो बल्ब जलाकर रहने वाली अम्मा के नाम आया 2 लाख से ज्यादा का बिजली बिल, कारण जान लोग हुए हक्के बक्के

झोपडी में केवल दो बल्ब जलाकर रहने वाली अम्मा के नाम आया 2 लाख से ज्यादा का बिजली बिल, कारण जान लोग हुए हक्के बक्के अगर किसी गरीब व्यक्ति को छतरी और दो वक्त की रोटी मिल जाती है, तो वह अपने भाग्य को धन्य मानता है। यह सोचिए, उस स्थिति में वह अपने लिए टीवी, एसी या फ्रिज जैसी सुविधाओं की चिंता करना उसके लिए अपराध होता है। हम सभी जानते हैं कि अगर कोई झोपड़ी में रहता है, तो वह सिर्फ वही सुविधाएं प्राप्त कर सकता है, जो उसे अपने रोज़गार और जीवन चलाने के लिए आवश्यक हों। हालांकि, यदि उसे अचानक एक बड़ा भुगतान करने की जरूरत पड़े, तो क्या होगा? कर्नाटक के भाग्यनगर में ऐसी ही एक घटना सामने आई है, जिसके बारे में सुनकर आप हैरान हो जाएंगे।

झोपडी में केवल दो बल्ब जलाकर रहने वाली अम्मा के नाम आया 2 लाख से ज्यादा का बिजली बिल, कारण जान लोग हुए हक्के बक्के

यह भी पढ़ें Viral Video में चलती बाइक पर Romantic Couple ने बनाया ऐसा वीडियो जिसे देख लोग रह गए दंग

अम्मा को सदमा लगा

वास्तव में, एक 90 साल की महिला नामक गिरिजम्मा के साथ कर्नाटक के भाग्यनगर में एक छोटे से झोपड़ी में बसना है। आमतौर पर, उन्हें मासिक बिजली बिल का भुगतान 70-80 रुपये प्रति माह का होता है। हालांकि, मई माह के लिए, उन्हें 1,03,315 रुपये का बिल मिला, जिसके बाद वे चौंक गईं। जब बिजली विभाग के अधिकारी को इस बारे में पता चला, वे उनके घर गए और देखा कि मीटर में कुछ समस्या थी, और जो व्यक्ति मीटर रीडिंग लेने गया था, उसने भी गलती की थी। बाद में, अधिकारियों ने उनसे बिल का भुगतान करने के लिए कहा नहीं और उन्हें आश्वासन दिया कि इस समस्या को जल्द से जल्द ठीक कर दिया जाएगा।

मीटर की रीडिंग गलत थी

एक यूजर नामक अमित उपाध्याय (@Amitsen_TNIE) ने 22 जून को सोशल मीडिया पर इस मामले पर एक पोस्ट किया है, जो अब वायरल हो रही है। उन्होंने अपने पोस्ट में अम्मा, उनकी झोपड़ी और बिजली बिल की तस्वीर भी साझा की है। इंटरनेट यूजर्स इस खबर में काफी रुचि दिखा रहे हैं। ट्विटर पर 32 हजार से अधिक लोगों ने इसे देखा है। उन्होंने विभिन्न प्रकार के कमेंट करके अपने प्रतिक्रिया भी दी है। एक उपयोगकर्ता ने लिखा है – “यप्पा, ये तो 5 साल का बिल है।” दूसरे उपयोगकर्ता ने टिप्पणी की है – “ऐसा लगता है कि मीटर रीडिंग गलत ली गई है।” मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, ऐसे लोगों के लिए भाग्य ज्योति योजना के तहत बिजली कनेक्शन प्रदान किया जाता है, जिसका उद्देश्य गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों को न्यूनतम कीमत पर बिजली उपलब्ध कराना है।

यह भी पढ़ें Jugaad Video: Scooty पर शख्स ने बैठाये एक साथ 8 बच्चे जुगाड़ देख लोगों की फटी रह गयी आँखे

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now