Pea cultivation: मटर की अगेती खेती की तकनीक से सिर्फ 2 महीने में कमाएं लाखों रुपयों का मुनाफा, जानिए क्या है पूरी प्रोसेस

Pea cultivation: मटर की अगेती खेती की तकनीक से सिर्फ 2 महीने में कमाएं लाखों रुपयों का मुनाफा, जानिए क्या है पूरी प्रोसेसआज हम आपको ऐसी फसल की खेती के बारे में बताने जा रहे है जिससे आप सिर्फ 2 महीने में ही मालामाल बन सकते है मटर की खेती करने की इस बेहतरीन तरीके से आप बहुत ही तगड़ा मुनाफा कमा सकते है मटर एक ऐसी सब्जी है जो आपको भारत के हर किचन में मिलेगी लोग मटर की सब्जी को खाना काफी पसंद भी करते है ये हर सब्जी या दाल के साथ उपयोग किया जा सकता है मेटर हमारे शरीर बेहद ही पौष्टिक है इससे हम कई तरह की बीमारियों से बच सकते है और एक स्वस्थ जीवन जी सकते है। मटर की खेती करने के लिए आपको दोमट मिट्टी की जरुरत है जिसका ph मान 7.5 होना चाहिए होगी मटर की बुआई से पहले मिट्टी की तैयारी के लिए हल का उपयोग करें इसकी खेती ऑक्टूबर से नवंबर तक की जा सकती है अगर आप भी अपना रोजगार बढ़ाना चाहते है तो मटर की खेती करने से आपको भी अच्छी आमदनी होगी।

Pea cultivation: मटर की अगेती खेती की तकनीक से सिर्फ 2 महीने में कमाएं लाखों रुपयों का मुनाफा, जानिए क्या है पूरी प्रोसेस

यह भी पढ़ें शख्स ने छोटे-बड़े फलों को अलग करने का लगाया तगड़ा जुगाड़, आईडिया देख इंजीनियर भी हो गए फेल

कैसे करें खेती

मटर की खेती करने के लिए आपको प्रति हेक्टेयर 80 से 100 किलोग्राम मटर के बीज की जरुरत होगी तब ही आप इसकी सही तरीके से बुआई कर सकते है फिर कल्टीवेटर से दिन में 2-3 बार मटर के खेत की जोताई करें मटर की खेती करने के लिए उसके बीजो की छटाई करना जरुरी है इसके बीजो को जमीं में गहराई में ना बोये इससे आपकी फसल को नुकसान हो सकता है इसके अच्छे अंकुरण के लिए खेत में नमी होता बहुत ही आवश्यक है सितम्बर के अंतिम सप्ताह से लेकर ऑक्टूबर तक आप इसकी बुआई कर सकते है फिर यह फसल लगभग 40 से 50 दिनों में तैयार हो जाएगी इन तरीको से आप इसकी खेती कर अच्छा मुनाफा कमा सकते है।

Pea cultivation: मटर की अगेती खेती की तकनीक से सिर्फ 2 महीने में कमाएं लाखों रुपयों का मुनाफा, जानिए क्या है पूरी प्रोसेस

अगेती खेती तकनीक से मिलेगा डबल मुनाफा

इसकी अगेती किस्म की बुआई करने के एक दिन पहले इसके बीजो को पानी के भिगोके रखना चाहिए इसके बाद छाया सुखाकर इसकी बुआई करे। मटर की खेती नवम्बर में फूल आने पर फुहारा विधि से इसकी सिंचाई की जाती है मटर की फसल का बीज शोधन जरूर करे इससे फसल में अच्छी पैदावार हो सकेगी अगेती खेती की एक खासियत होती है की ये 50 से 60 दिनों में तैयार हो जाती है इस बेहतरीन तकनीक से आप मटर की खेती कर बहुत ही काम समय में बहुत ही अच्छा मुनाफा कमा लेंगे ये खेती किसानो को काफी अच्छा फायदा भी करा सकती है जिससे उनकी आर्थिक स्थिति में बहुत ही अच्छा सुधर आ जायेगा

यह भी पढ़ें Grow Amrood At Home: गमले में अमरुद उगाने की इस तकनीक से झोला भर निकलेगे अमरुद, पढ़िए पूरी प्रक्रिया

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now