देशी जुगाड़: गांव के लड़के ने बनाया 24 घंटे फ्री बिजली देने का शानदार जुगाड़, इस बिजली से पूरा गांव हुआ रोशन

देशी जुगाड़: गांव के लड़के ने बनाया 24 घंटे फ्री बिजली देने का शानदार जुगाड़, इस बिजली से पूरा गांव हुआ रोशन

देशी जुगाड़ गांव के लड़के ने बनाया 24 घंटे फ्री बिजली देने का शानदार जुगाड़, इस बिजली से पूरा गांव हुआ रोशन एक गांव में रहने वाले युवक को बिजली की समस्या थी। वह लाइट के लिए बार-बार परेशान हो रहा था। लेकिन उसने एक शानदार जुगाड़ कर डाली। उसने पूरे गांव को चमकाने वाली एक ऐसी बिजली की व्यवस्था बना दी, जिसे देखकर सरकार ने उसे सम्मानित किया। इस जुगाड़ ने बड़े-बड़े वैज्ञानिकों और इंजीनियरों को भी चकित कर दिया।

देशी जुगाड़: गांव के लड़के ने बनाया 24 घंटे फ्री बिजली देने का शानदार जुगाड़, इस बिजली से पूरा गांव हुआ रोशन

यह भी पढ़ें Viral Video में चलती बाइक पर Romantic Couple ने बनाया ऐसा वीडियो जिसे देख लोग रह गए दंग

लगाया इंजीनियरिंग वाला दिमाग

एक 28 साल के युवक ने अपनी देसी जुगाड़ साइंस से खुद ही बिजली बनानी शुरू कर दी है। उसने यूट्यूब से टरबाइन की तकनीक सीखी। फिर उसने गांव के ढलानवाली जगह पर गड्ढा खोदा और वहां टरबाइन लगाया। अब गांव में पूरे दिन मुफ्त बिजली उपलब्ध है। इसके लिए थोड़ा-बहुत खर्च आता है, लेकिन सभी लोग मिलकर इसे संभालते हैं। यह अद्भुत है कि यह युवक कोई इंजीनियर नहीं है, वह सिर्फ़ इंटर पास है। इस प्रोजेक्ट के लिए उसने लगभग 12 हजार रुपये खर्च किए हैं और इससे 2500 बॉट की बिजली उत्पन्न होती है।

गजब का जुगाड़ बनाया

अफसर संदीप भगत ने बीडीओ कमिल के प्रोजेक्ट को देखकर वाकई हैरान हुए। उन्होंने कहा कि पहाड़ी इलाकों में बिजली पहुंचाना कठिन होता है, लेकिन कमिल ने इस समस्या का समाधान दिखाया है। अफसर ने इसे मूल्यांकन किया और अब वे ऐसे ही टरबाइन को अन्य गांवों में लगाने की योजना बना रहे हैं। कमिल ने बिरसा मुंडा कॉलेज खूंटी में इंटर साइंस पढ़ी है। वे धनबाद के बीसीसीएल में पैथोलॉजी के टेक्नीशियन के रूप में काम कर रहे हैं। कमिल ने बताया कि उन्होंने पुस्तकों में पढ़ा था कि पानी के दबाव से टरबाइन से बिजली उत्पन्न की जा सकती है। उन्होंने इसी सिद्धांत पर काम किया है।

देशी जुगाड़: गांव के लड़के ने बनाया 24 घंटे फ्री बिजली देने का शानदार जुगाड़, इस बिजली से पूरा गांव हुआ रोशन

अब मिली सफलता

कमिल ने यूट्यूब से टरबाइन बनाने की तकनीक सीखी। 2014 में उन्होंने इस प्रोजेक्ट की शुरुआत की। फिर उन्होंने अपने दोस्तों के साथ मिलकर गांव के पास कच्चे बांध बनाया और ऑयरा झरिया नदी का पानी रोक दिया। उन्होंने लगभग 100 फीट गहराई का गड्ढा खोदा और उसमें टरबाइन स्थापित किया।

यह भी पढ़ें Viral Video: बूढ़े रिक्सावले की मदद करने का यह वीडियो हुआ खूब वायरल, आप भी देखिये पूरा वीडियो क्या है इस वीडियो में

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

You may have missed