इस धरती का सबसे काला फल खाते ही दिमाग चलेगा कंप्यूटर की तरह और आपको मिलेगा स्वास्थ जीवन, जानिए किस तरह की जाती है खेती

इस धरती का सबसे काला फल खाते ही दिमाग चलेगा कंप्यूटर की तरह और आपको मिलेगा स्वास्थ जीवन, जानिए किस तरह की जाती है खेती

इस धरती का सबसे काला फल खाते ही दिमाग चलेगा कंप्यूटर की तरह और आपको मिलेगा स्वास्थ जीवन, जानिए किस तरह की जाती है खेती इस फल को अपने डाइट में फॉलो कर के आप अपने शरीर को ताकतवर और अच्छा बना सकते है आपको बता दे इस फल से आपको खून की कमी ,आयरन की कमी ,आसानी से दूर हो जाती है ये फल में भरपूर मात्रा में बहुत से पोषक तत्व पाए जाते है जो की हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद है।

इस धरती का सबसे काला फल खाते ही दिमाग चलेगा कंप्यूटर की तरह और आपको मिलेगा स्वास्थ जीवन, जानिए किस तरह की जाती है खेती

यह भी पढ़े भारत की राष्ट्रीय चमत्कारी सब्जी खा ली तो बुढ़ापा आपके आस-पास भी नहीं भटकेगा, जानिए कैसे की जाती है इस सब्जी की खेती

किस प्रकार की जाती है खेती

यह सेब की एक दुर्लभ किस्म है जो हर जगह आसानी से उपलब्ध नहीं होता है और न ही इसे कहीं उगाया जा सकता है काले रंग का यह सेब गहरे बैंगनी रंग का होता है और तिब्बत की पहाड़ियों पर उगाया जाता है यहां के निवासी इस फल को ‘हुआ निउ’ के नाम से जानते हैं इसकी खेती समुद्र तल से काफी ऊंचाई पर पहाड़ों में की जाती है इस फल के बीज को तैयार किया जाता है उसके बाद खेत में लगा दिया जाता है आप फल के बीज को सीधे खेत में भी लगा सकते है और आपको बता दे लगभग 9 से 10 साल में इस काले सेब के फल आते है।

इस धरती का सबसे काला फल खाते ही दिमाग चलेगा कंप्यूटर की तरह और आपको मिलेगा स्वास्थ जीवन, जानिए किस तरह की जाती है खेती

कितनी होगी आमदनी

अगर इस सेब की कीमत की बात करें तो 1000 से 1500 रूपये किलो तक बिकता है लोग इस फल को खाना भी बेहद पसंद करते है जिसकी वजह से ये फल और भी ज्यादा इस फल की कयामत बढ़ती रहती है बाजार में इस फल की डिमांड बढ़ती रहती है अगर आप इस फल की खेती एक एकड़ में भी करते है आपको करोड़ो में होगा मुनाफा।

यह भी पढ़े बुढ़ापा आपके आस-पास भटकेगा भी नहीं 70 साल के होने के बाद भी लगोगे 30 साल के अगर खा लिया ये ड्राई फ्रूट, जानिए कैसे की जाती है खेती

You may have missed